• Tue. May 17th, 2022

देखेंगे सच,दिखाएंगे सच

अपने दुःख पर रोने वाले मुस्कुराना सीख लें

विश्व-विख्यात अजय याग्निक ने
किया सुंदरकांड का पाठ

25 दिसंबर को ब्लेसिंग फार्म में होगी मेहंदी

देहरादून।
अपने दुख पर रोने वाले मुस्कुराना सीख लें। शुक्रवार को विश्व विख्यात अजय याग्निक ने अपने इस भजन से पूरा समां ही भक्तिमय कर दिया। श्री-श्री बालाजी सेवा समिति की ओर से 21 निर्धन कन्याओं का विवाह कार्यक्रम शुरू कर दिया गया है। इस क्रम में पहले दिन शुक्रवार को अजय याग्निक ने सुंदरकांड के पाठ से इस शुभ कार्य की शुरुआत करवाई। 25 दिसंबर को ब्लेसिंग फार्म में मेहंदी कार्यक्रम होगा।

श्री श्री बालाजी सेवा समिति के संस्थापक- अध्यक्ष अखिलेश अग्रवाल ने बताया कि समिति की ओर से निस्वार्थ भाव से 10 सालों से सेवा की जा रही है। जिसके तहत दिव्यांग,निर्धन और जरूरतमंद कन्याओं का विवाह कराया जा रहा है। इसके पहले दिन शुक्रवार को विश्व-विख्यात अजय याग्निक की ओर से करवाई गई श्री राम चन्द्र की जय से पूरा परिसर गूंज उठा। ब्लेसिंग फार्म में आयोजित इस कार्यक्रम में सेकड़ो की संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। सभी ने बेहद ही आकर्षक तरीके से सजे हुए राम जी के दरबार को नमन किया। सचिव मनोज खण्डेलवाल ने बताया कि 25 दिसम्बर को निर्धन कन्याओं की मेहंदी की रस्म होगी। 26 दिसम्बर को सामूहिक रूप से इनके दूल्हे घोड़ी पर आएंगे। जाएंगी। शिवाजी धर्मशाला से सुबह 10 बजे बारात निकलेगी। इस मौके पर समिति के मुख्य संरक्षक रामकुमार गुप्ता, श्रवण वर्मा,कुलभूषण अग्रवाल,सौरभ गुप्ता, रवि सूद, दीपक सिंघल,दिनेश चंद्र गोयल, अश्विनी अग्रवाल , महिला मंडल अध्यक्ष ममता गर्ग सहित कार्यकारिणी के सेवादार आदि उपस्थित थे।

हवन से दी श्रद्धांजलि
इससे पहले सीडीएस बिपिन रावत जी को हवन के माध्यम से श्रद्धांजलि दी गयी। साथ ही कोरोना महामारी की चपेट में आकर इस दुनिया से जाने वालों की आत्मा की शांति के लिए भी हवन के माध्यम से कामना की गई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *