• Mon. Jul 4th, 2022

देखेंगे सच,दिखाएंगे सच

35 वर्षों की सेवा के बाद भी फार्मासिस्ट की पहली पदोन्नति नसीब नही…

Avatar

ByAman rawat

Jun 9, 2021

आज डिप्लोमा फार्मसिस्ट एसो० के प्रांतीय अध्यक्ष श्री प्रताप सिंह पंवार जी की अध्यक्षता में जनपद मंत्री श्री चंद्रमोहन सिंह राणा के द्वारा डॉ0 धन सिंह रावत माननीय उच्च शिक्षा एवं सहकारिता मंत्री उत्तराखंड सरकार के आवास पर डिप्लोमा फर्मासिस्टों की मांगों के सम्बंध में विस्तार से चर्चा की गई

 

प्रदेश अध्यक्ष जी श्री पंवार जी ने माननीय मंत्री जी को बताया कि उत्तराखंड बनें 21 वर्ष होने पर भी फार्मासिस्ट का पुनर्गठन(ढांचा) नही बनाया गया है जिस कारण से 35 वर्षों की सेवा के बाद भी फार्मासिस्ट की पहली पदोन्नति नसीब नही हो रही है।। 2-फार्मासिस्ट को पोस्टमार्टम भत्ता मात्र 4 रूपए दिया जा रहा है, जो उत्तरप्रदेश सरकार ने 1974 में चिकित्साधिकारी को ₹10 फार्मासिस्ट को ₹4 और सफाई नायक को ₹2 दिया गया था । जिसको 2013 में उत्तराखंड सरकार ने उच्चीकृत कर चिकित्साधिकारी को ₹500 ,सफाई नायक को ₹150 और फार्मासिस्ट को अभी भी मात्र ₹4 ही दिया जा रहा है। जिससे फार्मासिस्टों में भारी रोष है।3.चीफ फार्मासिस्टों की प्रोन्नति की फ़ाइल अप्रैल 2020 से महानिदेशालय और शासन में घूम रही है जिस कारण हमारे कई फार्मासिस्ट 35 साल अविरल सेवा देने के बाद भी बिना पदोन्नति के सेवानिवृत्त ही गए हैं। इसकी जिम्मदारी भी किसी अधिकरी पर तय की जानी चाहिए। माननीय मंत्री डॉ धन सिंह रावत जी ने आश्वाशन दिया कि मैं माननीय मुख्यमंत्री जी से आपकी सभी मांगों का तत्काल निराकरण करवाऊंगा ,आपकी सभी मांगे जायज हैं जय संगठन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *